ताजा ख़बरेंराज्य

न्यूज पेपर में शादी के विज्ञापन से धोखाधड़ी:युवती ने 1 लाख 7 हजार रुपए लिए, फिर बात बंद की; 2 साल बाद पीड़ित ने शिकायत की

न्यूज पेपरों के साथ आने पम्पलेट में शादी करवाने को लेकर विज्ञापन प्रकाशित होते हैं, इन विज्ञापनों के जरिए अब धोखाधड़ी होना शुरु हो गई है। ऐसा ही एक मामला औद्योगिक नगरी पीथमपुर से सामने आया हैं। यहां एक युवक ने विज्ञापन में दिए गए नंबर के आधार पर शादी के लिए फोन किया। जिसके बाद युवती से उसकी बातचीत हुई, दोनों ने शादी से पहले एक-दूसरे को समझने के हर दिन फोन पर ही चर्चा करना शुरु किया।

इस दौरान युवती ने युवक को फोन कर अपनी मां की तबीयत ठीक नहीं होने की बात बताई, तो युवक ने भरोसा करके युवती को फोन पे ऐप से पैसे दिए। कुछ दिन बाद युवती ने फिर से युवक को बताया कि उसकी मां का निधन हो गया हैं, ऐसे में अभी उससे मिलने नहीं आ सकती, मौत के बाद समाज के कार्यक्रम को लेकर उसे रुपयों की आवश्यकता है। युवक ने फिर भरोसा करके युवती के खाते में रुपए जमा करवा दिए। इस तरह से पीड़ित युवक के अनुसार युवती ने युवक से 1 लाख 7 हजार रुपए ले लिए। जिसके बाद से ही युवती से संपर्क नहीं हो पा रहा है। अब पीड़ित युवक पीथमपुर के सेक्टर एक थाने में युवती और उसकी बहन के खिलाफ प्रकरण दर्ज करवाया है।

एक साल की बातचीत, इंदौर का पता बताया

पीथमपुर में स्थित फकीर मोहल्ला निवासी अतुल तिवारी के अनुसार 22 मई 2021 को दोपहर के समय उसने विज्ञापन में एक नंबर शादी के लिए देखा था। इस नंबर पर फोन करने पर युवती ने अपना नाम लेखनी तिवारी बताया था। साथ ही युवती ने अपना निवास स्थान हनुमान मंदिर विजय नगर इंदौर बताया था, जिसके बाद से ही हर रोज युवक व युवती के बीच में बातचीत होने लगी।

इस दौरान आरोपी युवती ने मां के बीमार होने पर बातचीत करना कम कर दी व युवक को बताया कि कुछ जरुरी बात होने पर अपनी बहन रोशनी का नंबर दिया। युवक ने उससे भी संपर्क किया तो पारिवारिक दिक्कतों के कारण दोनों ने मिलने से मना कर दिया। ऐसे में युवक भरोसा करके रुका रहा, लेकिन करीब एक साल होने व रुपए नहीं लौटाने के कारण युवक ने मिलने आने के लिए कहा, 2 अप्रैल 2022 से दोनों युवतियों ने बातचीत बंद कर दी, इसके बाद से ही पीड़ित का दोनों से संपर्क नहीं हो पाया।

इंदौर में नहीं मिला पता

पीड़ित मोबाइल पर बातचीत नहीं होने के चलते युवतियों को तलाशते हुए इंदौर में विजय नगर भी पहुंचा, लेकिन यहां युवतियों द्वारा बताया गया पता ही नहीं मिला। ऐसे में शादी के नाम पर हुई धोखाधड़ी को लेकर थाने पर पहले आवेदन सौंपा था। जिसके बाद मामले में जांच शुरु की। पुलिस ने पीड़ित युवक ने जिन नंबरों से युवतियों से संपर्क किया, उनके बारे में जानकारी के लिए साइबर क्राइम ब्रांच से संपर्क किया। वहीं, जिन खातों में रुपए जमा हुए हैं, उनके बारे में भी पड़ताल शुरु की गई। जिसमें इन दोनों युवतियों के छत्तीसगढ़ होने की जानकारी सामने आई हैं। हालांकि इस बात की पुष्टि होना अभी बाकी है। अब पुलिस ने मामले में लेखनी तिवारी व रोशनी के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है।

टीआई लोकेश सिंह भदौरिया के अनुसार पीड़ित ने थाने पर आवेदन दिया था, जिसमें विज्ञापन के आधार पर दिए गए नंबर पर फोन किया था। शादी करने का झांसा देकर अपने अकाउंट में एक लाख 7 हजार रुपए जमा करवाकर धोखाधड़ी की हैं। पुलिस ने मामले की जांच शुरु कर दी है।

Related Articles

Back to top button