अपराध

सायबर क्राईम ब्रांच धार एवं थाना अमझेरा पुलिस को 5000/- रू. के इनामी फरारी बदमाश को पकड़ने में मिली सफलता

थाना अमझेरा पुलिस ने वर्ष 2019 में डकैती डालने के पूर्व ही 02 बदमाशों को किया था गिरफ्तार, 05 आरोपीगण हो गए थे फरार।

धार जिलें को अपराध मुक्त रखने के उद्देष्य से लम्बे समय से विभिन्न थानों के अपराधों में फरार चल रहे स्थाई इनामी वारंटियों की गिरफ्तारी सुनिष्चित करने हेतु पुलिस अधीक्षक जिला धार श्री आदित्य प्रताप सिंह ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धार श्री देवेन्द्र पाटीदार के निर्देशन में समस्त एसडीओपी/सीएसपी महोदय व थाना प्रभारियों के साथ-साथ उप पुलिस अधीक्षक डीपीओ/सायबर क्राईम कार्यालय धार मोनिका सिंह, सायबर क्राईम ब्रांच धार प्रभारी धीरज सिंह राठौर को आवष्यक दिषा निर्देश जारी कर उचित कार्यवाही हेतु लगाया गया था।
इसी तारतम्य में आज दिनांक 11.02.2022 को सायबर क्राईम ब्रांच धार प्रभारी धीरज सिंह राठौर को मुखबिर से सूचना मिली थी कि थाना गंधवानी क्षेत्र के ग्राम पिपल्दा का रहने वाला अजय पिता सुअरसिंह भील, जो कि थाना अमझेरा के अपराध क्रमांक 517/19 धारा 399, 402 भादवि में नामदर्ज आरोपी है। आरोपी अजय गंधवानी से धार की तरफ बस से आने वाला है।
मुखबिर की सूचना से वरिष्ठ अधिकारियों के साथ थाना प्रभारी अमझेरा श्री कमलसिंह पंवार को सूचना से अवगत कराया। सायबर क्राईम ब्रांच धार टीम व थाना अमझेरा टीम ने संयुक्त कार्यवाही करते हुए ग्राम धार-मांगोद फाटे के पास नाकाबंदी की। कुछ देर बाद जीराबाद गंधवानी की ओर से एक बस आती हुई दिखी, जिसे रोका जाकर उसमें तलाषी ली, मुखबिर द्वारा बताये गए हुलिए के एक व्यक्ति का नाम पता पूछते उसने अपना नाम अजय उर्फ गजेन्द्र पिता सुअरसिंह अनारे जाति भील उम्र 19 साल निवासी ग्राम पिपल्दा थाना गंधवानी जिला धार का होना बताया।
आरोपी अजय थाना अमझेरा के अपराध क्रमांक 517/19 धारा 399, 402 भादवि में नामदर्ज आरोपी था, जिसकी गिरफ्तारी के थाना अमझेरा पुलिस ने भरसक प्रयास किए, परंतु आरोपी पुलिस की गिरफ्तारी से बाहर रहा। पुलिस अधीक्षक धार महोदय ने आरोपी की गिरफ्तारी पर 5,000/- रू. का इनाम घोषित किया था। अपराध सदर में आरोपी से पूछताछ करते उसने अपना जुल्म स्वीकार कर लिया। थाना अमझेरा पुलिस द्वारा आरोपी अजय को अपराध सदर में गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय सरदारपुर में पेश किया जा रहा है।
आरोपी अजय को पकड़ने में सायबर क्राईम प्रभारी धीरज सिंह राठौर, सउनि रामसिंह गौर, आर. गुलसिंह, आर. बलराम, आर. राहुल व थाना प्रभारी अमझेरा कमल सिंह पंवार, उनि राजेन्द्र सिंह सिंगोड की महत्वपूर्ण भूमिका रही।
आरोपी अजय द्वारा कबूल की गई वारदात का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है-
दिनांक 09.12.2019 को थाना अमझेरा पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि 06-07 बदमाष अमझेरा-मनावर रोड़ स्थित भेरू घाट के पास डकैती की योजना बना रहे है। मुखबिर की सूचना के आधार पर थाना अमझेरा पुलिस ने भेरूघाट पर घेराबंदी की, जिसमें कुछ बदमाष भागने में सफल हुए। पुलिस द्वारा 02 आरोपियों छतरसिंह पिता बिलामसिंह निवासी पिपल्दा थाना गंधवानी व सोहन पिता रणसिंह भील निवासी पुरा थाना टांडा को गिरफ्तार किया था, जिन्होने अपने 05 अन्य साथियांे के साथ गुजरात से आने वाली गौर बस को लूटने की योजना बनाते एकत्रित होना बताया। थाना अमझेरा पुलिस द्वारा दोनो आरोपियों व 05 अन्य बदमाषों के विरूद्ध थाना अमझेरा में अपराध क्रमंाक 517/19 धारा 399, 402 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया था। जिसमें से 02 बदमाष संजय भील एवं दिनेष भील निवासी पिपल्दा को क्राईम ब्रांच व थाना अमझेरा पुलिस ने क्रमषः दिनांक 13.02.2021 व 17.01.2022 को गिरफ्तार कर लिया था। प्रकरण में अन्य 02 आरोपीगण वर्तमान में भी फरार चल रहे है, जिनकी गिरफ्तारी के भी पुलिस प्रयास कर रही है।

Related Articles

Back to top button