ताजा ख़बरेंदुनियादेश

विकास यात्रा का शुभारंभ जनपद पंचायत राणापुर में विकास रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया

झाबुआ जिले में विकास यात्रा को लेकर चैतरफा उत्साह का माहौल गाॅव- गाॅव में ढोल मादल से जनप्रतिनिधियों के द्वारा स्वागत किया गया

झाबुआ 5 फरवरी, 2023। राज्य शासन द्वारा निर्णय लिया गया है कि 5 फरवरी 2023 से 25 फरवरी 2023 तक प्रदेश के समस्त ग्रामों एवं शहरी वार्डो में विकास यात्राओं का प्रदेशव्यापी आयोजन किया जा रहा है। आयोजन के संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किए गये। झाबुआ जिले में विकास यात्रा को लेकर चैतरफा उत्साह का माहौल गाॅव- गाॅव में ढोल मादल से जनप्रतिनिधियों के द्वारा स्वागत किया गया। कलेक्टर श्रीमती रजनी सिंह, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अमन वैष्णव, भाजपा जिला अध्यक्ष श्री भानू भूरिया, पूर्व विधायक माननीय शांतिलाल बिलवाल, नगर पालिका अध्यक्ष सुश्री दीपमाला नलवाया, भाजपा जिला महामंत्री श्री सोमसिंह सोलंकी, पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष श्री मनोहर सेठीया, भाजपा जिला भाजपा मोर्चा उपाध्यक्ष श्री दिलीप नलवाया, मण्डल महामंत्री श्री संचित कटारिया, पार्षद श्री कन्नु प्रजापत, पार्षद श्री धन्ना गेहलोद, मण्डल उपाध्यक्ष श्री कमलेश नायक बड़ी संख्या में जन प्रतिनिधि एवं गणमान्य नागरिक आज राणापुर में विकास यात्रा के इस भव्य आयोजन में उपस्थित थे।
विकास यात्रा के इस आयोजन में सर्वप्रथम संत शिरोमणि श्रद्धेय रविदास जी की जंयती पर माल्यार्पण एवं दीप प्रजव्लन कर शुभारंभ अतिथियों के द्वारा किया गया। अतिथियों का पुष्पहार से स्वागत किया गया। आयोजन स्थल से अतिथियों के द्वारा विकास यात्रा के लिये बनाये गये रथ को हरी झंडी देकर रवाना किया गया। कार्यक्रम स्थल पर अतिथियों के द्वारा संत शिरोमणि श्रद्धेय रविदास जी की जंयती के उपलक्ष्य में संत के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डाला, समाज सुधार के क्षेत्र में किये गये कार्यो का उल्लेख किया गया। कार्यक्रम स्थल पर हितग्राहीयों को उनके स्वत्व प्रदान किये गये। शैक्षणिक संस्थाओं के छात्र- छात्राओं ने भी अपने विचार व्यक्त किये। आशा पिता बाबुलाल गेहलोद, रतनसिंह पिता कालु गेहलोद एवं राजेश पिता रमणलाल गेहलोद, विपूल पिता कैलाश गेहलोद, आरती पिता हवासिया मारू को जाति प्रमाण पत्र प्रदान किये एवं कन्नु पिता पुंजा चावड़ा को आय प्रमाण पत्र प्रदान किया। विरू पिता मूलचन्द, वाला पिता प्रेमचन्द एवं मांगुडी बैवा हिरा को बटवारा एवं नामान्तरण पत्र प्रदान किये।
झाबुआ जिले की सभी विधान सभा में विकास रथ निकाल कर आज शुभारंभ किया गया। कलेक्टर श्रीमती सिंह ने निर्देश दिये है, कि यात्रा के दौरान जिले की समस्त विधानसभा क्षेत्र में शिलान्यास एवं लोकार्पण के कार्य भी सम्पादित करे जिला अधिकारी अपने दायित्वों का गंभीरता से पालन करे। जिले के समस्त ग्रामों एवं शहरी वार्डो का चिन्हानक कर लिया गया है। जहां से यह विकास यात्रा प्रारम्भ की गई। विकास यात्रा का मुख्य उद्देश्य विभिन्न विकास गतिविधियों एवं उपलब्धियों को जनता के साथ साझा करना एवं भविष्य में आत्मनिर्भर एवं जिले के विकास एवं निर्माण के उद्देश्य नये विकास कार्यो का लोकार्पण एवं शिलान्यास की आधार शिला रखना है। विधानसभा क्षेत्र में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, नोडल अधिकारी एवं संबंधित तहसीलदार एवं सीईओ जनपद पंचायत सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त किये गये है। जिसके आदेश जारी कर दिये गये है। पेसा एक्ट के संबंध में जानकारी उपलब्ध करवाई जायेगी।
विकास और जनकल्याण के माध्यम से सुराज के लक्ष्यों को प्राप्त करना राज्य शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसी तथ्य को दृष्टिगत रखते हुए आयोजित की जा रही विकास यात्राओं का उद्देश्य विभिन्न विकास गतिविधियों एवं उपलब्धियों को जनता के साथ साझा करना एवं भविष्य में आत्म-निर्भर, समृद्ध और विकसित मध्यप्रदेश के निर्माण के उद्देश्य से नए विकास कार्यों की आधारशिला रखना है। माननीय मुख्यमंत्री जी द्वारा मुख्यमंत्री निवास कार्यालय ‘समत्व‘ में विडियो कांफ्रेंस  के माध्यम से विकास यात्रा के संबंध में निर्देश दिये गये। इसके पश्चात् माननीय प्रभारी मंत्रीजी के द्वारा जनप्रजिनिधियों एवं जिला अधिकारियों के साथ बैठक में इस संबंध में कि जाने वाली कार्यवाही के निर्देश दिये गये थे।

विकास यात्रा का स्वरूप -. विकास यात्रा प्रत्येक जिले में 5 फरवरी 2023 से 25 फरवरी 2023 तक आयोजित की जाएंगी, विकास यात्राएं सभी जिलों के प्रत्येक ग्राम और प्रत्येक नगर (शहरी वार्ड) को कवर करेगी, विकास पात्राओं में स्थानीय गणमान्य नागरिक, समाजसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि स्थानीय जनप्रतिनिधि, वालिटियर्स विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत लाभान्वित हितग्राही एवं आम नागरिक सम्मिलित होगे।

विकास यात्रा की रूपरेखा का निर्धारण-प्रत्येक जिले में ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र में आयोजित की जाने वाली विकास यात्राओं के रूट एवं रूपरेखा का निर्धारण जिला कलेक्टर द्वारा जिले के प्रभारी मंत्री के परामर्श से किया जाएगा, विकास यात्रा के लिए निकटतम ग्रामों एवं वार्डों के क्लस्टर/समूह निर्मित किए जाने और तदनुसार रूट का निर्धारण किया जाए। यात्रा संबंधित क्लस्टर में सम्मिलित प्रथम ग्राम से प्रारंभ होकर अन्य सभी ग्रामों से गुजरती हुई क्लस्टर के अंतिम ग्राम में समाप्त होगी, पात्राओं का रूट/रूपरेखा निर्धारित करते समय स्थानीय आवश्यकताओं एवं परिस्थितियों के अनुरूप निम्न बातों का विशेष रूप से ध्यान रखा जाएगा- प्रतिदिन यात्रा का प्रारंभ स्थत एवं समापन स्थल,प्रतिदिन यात्रा का प्रारंभ समय एवं समापन समय, यात्रा में प्रतिदिन कवर की जाने वाली दूरी, यात्रा में प्रति दिवस कवर किए जाने वाले ग्राम/वार्ड, यात्रा के दौरान संपादित की जाने वाली गतिविधियाँ।
विकास यात्रा के रूट का निर्धारण इस प्रकार किया जाए कि प्रत्येक ग्राम/नगर में यात्रा के अंतर्गत आयोजित होने वाली गतिविधियों को पर्याप्त समय मिले और निर्धारित समयावधि में जिले के समस्त ग्राम/वार्ड में यात्रा अनिवार्य रूप से पहुँचे, प्रत्येक विकास यात्रा को एक विशिष्ट नाम/कोड नम्बर दिया जाएगा। प्रभारी मंत्री जी के परामर्श से प्रत्येक यात्रा के लिए यात्रा प्रभारी सह यात्रा प्रभारी, लोकार्पण/शिलान्यास/ हितलाभ वितरण के लिए मुख्य अतिथि के निर्धारण की कार्यवाही जिला कलेक्टर द्वारा की जाएगी।

विकास यात्रा के दौरान संचालित की जाने वाली गतिविधियाँ- ग्राम/वार्ड के विभिन्न विकास कार्यों का शिलान्यास/लोकार्पण। विभिन्न शासकीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों के हितग्राहियों के साथ योजना के लाभ मिलने के पूर्व की स्थिति एवं लाभ मिलने के पश्चात उनकी स्थिति में परिवर्तन पर संवाद। ग्राम/नगर में नागरिकों, किसानों, मजदूरों, विद्यार्थियों, महिलाओं, स्व सहायता समूहों आदि के द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में की गई अभिनव पहल और उनकी सफलता की कहानियों पर चर्चा।
केन्द्र और राज्य सरकार की फ्लेगशिप योजनाओं और उनके लाभों के बारे में आम नागरिकों को जानकारी देना एवं योजनाओं का प्रचार प्रसार करना। राज्य सरकार द्वारा उक्त ग्राम/नगर के विकास के लिए किए गए कार्यों से जनता को अवगत कराते हुए भविष्य की विकास रणनीतियों पर चर्चा करना। विकास यात्रा के दौरान स्व सहायता समूहों, शिक्षक पालक संघ के सदस्यों क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप्स के सदस्य, ग्राम सभाओं के सदस्य जल जीवन मिशन के अंतर्गत परियोजना संचालन-संधारणकर्ता समितियों के प्रतिनिधि, जल उपभोक्ता संथाओं के प्रतिनिधि, पेसा नियमों के अंतर्गत निर्मित समितियों के सदस्य आदि विभिन्न समूहों को भी सम्मिलित करते हुए उनके द्वारा किए जा रहे स्थानीय स्तर पर किए जा रहे अच्छे कार्यों का अवलोकन भी किया जा सकता है।
यात्रा के रूट में आने वाली शासकीय संस्थाओं जैसे स्वास्थ्य केन्द्र, आंगनवाड़ी, विद्यालय, राशन की दुकान, ग्राम पंचायत कार्यालय, पुलिस थाना, पशु चिकित्सालय, सहकारी साख समिति आदि का भ्रमण कर व्यवस्थाओं को और बेहतर बनाने तथा अधोसंरचना में सुधार आदि के लिए सुझाव प्राप्त किए जा सकते है। विभिन्न योजनाओं के ऐसे पात्र हितग्राही, जिन्हें हाल ही में मुख्यमंत्री जनसेवा अभियान के अंतर्गत योजना का लाभ प्राप्त हुआ है, उन्हें हितलाभ वितरण की कार्यवाही। यात्रा के दौरान विकास गतिविधियों पर एका सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए जा सकते है। इसके अतिरिक्त प्रभारी मंत्री जी का परामर्श प्राप्त करते हुए अन्य नवाचारी गतिविधियाँ भी स्थानीय परिस्थितियों के अनुरूप जोड़ी जा सकती हैं।
विकास पात्रा के लिए नोडल एजेन्सी/अधिकारी- विकास यात्रा के प्रदेश भर में सुव्यवस्थित संचालन के लिए जन अभियान परिषद नोडल एजेन्सी के रूप में कार्य करेगी। परिषद की जिला एवं विकासखण्ड स्तर पर कार्यरत इकाईयाँ यात्रा आयोजन में स्थानीय स्तर पर सहयोग करेंगी। जिला स्तर पर विकास यात्राओं के संपूर्ण प्रभारी जिला कलेक्टर होंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में यात्राओं के प्रबंधन हेतु मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत एवं नगर निगम क्षेत्रों में आयुक्त, नगर निगम तथा शेष नगरीय क्षेत्रों में जिले के अपर कलेक्टर नोडल अधिकारी होंगे। जिला कलेक्टर द्वारा प्रत्येक विकास पात्रा के लिए पृथक पृथक अधिकारियों को यात्रा प्रभारी के रूप में नामांकित किया जाएगा।

विकास यात्रा की रिपोर्टिंग- प्रतिदिन आयोजित होने वाली विकास यात्राओं में निम्न बिन्दुओं पर संख्यात्मक गुणात्मक जानकारी राज्य शासन को प्रतिदिन परिपत्र के अंत में अंकित अनुसार राज्य स्तरीय नोडल अधिकारी को प्रेषित की जाएगी-लोकार्पण/शिलान्यास परियोजनाओं की संख्या एवं राशि तथा हितग्राहीमूलक योजनाओं में हितलाभ वितरण की संख्यात्मक जानकारी।
यात्रा एवं यात्रा के दौरान आयोजित कार्यक्रमों के छायाचित्र, वीडियो एवं अन्य प्रमुख गतिविधियों की जानकारी नियमित रूप से विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर अपलोड की जाए।

राज्य स्तरीय डेटा बेस एवं मॉनिटरिंग सिस्टम- विकास यात्रा से संबंधित संपूर्ण जानकारी सी.एम. हेल्पलाईन पोर्टल के माध्यम से दर्ज की जाएगी। पोर्टल में एक पृथक माड्यूल तैयार कर अधिकारियों के लिए लॉगिन बनाए जाने की सुविधा दी गयी है। विकास यात्राओं के संबंध में जिलो से डेटा प्राप्त करने एवं प्रगति की नियमित मॉनीटरिंग हेतु सीएम हेल्पलाईन पोर्टल के माड्यूल में निम्नानुसार प्रक्रिया निर्धारित की गई है।
जिला नोडल अधिकारी (शहरी/ग्रामीण) के लॉग-इन पर किए जाने वाले कार्य -विकास यात्रा का मास्टर तैयार करना (यात्रा नाम, यात्रा प्रारंभ/समाप्ति दिनांक, यात्रा मार्ग में शामिल ग्राम/वार्ड इत्यादि), विकास यात्रा के लिए प्रभारी अधिकारी की नियुक्ति कर उनकी लॉग इन आई.डी. बनाना, कलेक्टर के अनुमोदन से विकास यात्रा में मुख्य अतिथि महोदय की जानकारी दर्ज करना।
विकास यात्रा प्रभारी के लॉग-इन पर किए जाने वाले कार्य- विकास यात्रा में प्रतिदिन प्राप्त आवेदनों की संख्यात्मक जानकारी दर्ज करना। विकास यात्रा में प्रतिदिन होने वाले भूमिपूजन/लोकार्पण की संख्यात्मक जानकारी दर्ज करना।
जिला कलेक्टर लॉग-इन पर जिले में विकास यात्रा में दर्ज होने वाली जानकारी की यात्रावार मॉनीटरिंग की सुविधा रहेगी।

 

विकास यात्रा के अन्य महत्वपूर्ण बिन्दु-विकास यात्रा का समय प्रातः सूर्योदय से प्रारंभ होगा एवं यात्रा प्रतिदिन सायंकाल तक चलेगी। जिन नगरीय/ग्रामीण क्षेत्रों में स्थानीय निर्वाचन के परिप्रेक्ष्य में आदर्श आचरण संहिता प्रभावशील है, वहाँ आचरण संहिता के प्रासंगिक प्रावधानों का परिपालन करते हुए यात्राओं का आयोजन किया जाए। यात्राओं में सर्वाधिक महत्वपूर्ण तत्व जनता की भागीदारी, जनता को जानकारी प्रदाय और जनता से संवाद है। इसीलिए यात्रा के समय, स्थान, मार्गआदि के विषय में निर्धारण स्थानीय परिस्थितियों के अनुरूप किया जावे ताकि अधिक से अधिक नागरिक यात्राओं में सम्मिलित हो सकें। माननीय मुख्यमंत्री जी प्रदेश के विभिन्न जिलों में समय-समय पर विकास यात्राओं में सम्मिलित होंगे। इस विषय में जिला प्रशासन को पृथक से जानकारी प्रेषित की जाएगी। माननीय प्रभारी मंत्रिगण जिले में इन यात्राओं का पर्यवेक्षण एवं निरीक्षण करेंगे ताकि यात्राओं का आयोजन उद्देश्यों के अनुरूप एवं सफलतापूर्वक संपन्न हो माननीय सांसदगण एवं विधायकगण अपने अपने क्षेत्रों में विकास यात्राओं में सम्मिलित होंगे। विकास यात्राओं के दौरान मेडिकल सुविधाएं पेयजल सुविधा, सुरक्षा, कानून व्यवस्था आदि की दृष्टि से आवश्यक व्यवस्थाएं की जाए। यात्रा के रूट में सरकारी योजनाओं एवं कार्यक्रमों के इलेक्ट्रानिक मीडिया, प्रिन्ट मीडिया, सोशल मीडिया एवं अन्य माध्यमों से पर्याप्त प्रचार प्रसार की व्यवस्था की जाए। विकास यात्राओं के रूट और रूपरेखा का संपूर्ण जिले में पर्याप्त प्रचार-प्रसार करना सुनिश्चित किया जाए, ताकि इनमें अधिक से अधिक संख्या में लोग भाग ले सकें।
विकास यात्रा का शुभारंभ के अवसर पर जनपद पंचायत राणापुर में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री सुनिल कुमार झा, तहसीलदार राणापुर श्री सुखदेव डावर, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत श्री जीएस मुजाल्दा, मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री गौमे, प्रभारी पीआरओ श्री सुधीर कुशवाह एवं अन्य अधिकारी कर्मचारी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button