ताजा ख़बरें

धार ने स्वच्छता अभियान में प्रदेश में किया दूसरा स्थान 

धार

धार ने स्वच्छता अभियान में प्रदेश में किया दूसरा स्थान 

पूरा सच जानने के लिए देखिए धार से वरिष्ठ पत्रकार ब्रांड एम्बेसेडर राजेश शर्मा की यह खास रिपोर्ट

धार को यूँ ही नही मिला स्वच्छता में प्रदेश में दूसरा स्थान, ये रहा पीछे का सच.. -जीतेंगे बाजी हम , चहुंओर उठे थे शहर से हाथ , सबने ठाना था धार को स्वच्छता का ताज दिलाना है ब्रांड एम्बेसेडर राजेश शर्मा की कलम से….

ऐतिहासिक राजा भोज की धार नगरी ने स्वच्छता सर्वेक्षण 2023 में 1 लाख से कम आबादी वाले शहरों में प्रदेश में दूसरा स्थान हासिल कर अपने स्वर्णिम इतिहास को दोहराते हुए बड़ी कामयाबी हासिल की है. स्वच्छ सर्वेक्षण प्रतियोगिता 9500 अंकों की थी, धार ने 7240 अंक प्राप्त कर सफलता का परचम फहराया. कचरा मुक्त शहर की सूची में थ्री स्टार की रेटिंग तथा ओडीएफ ++ प्राप्त कर यह जता दिया कि हम किसी से कम नही है. धार की कामयाबी की गूंज प्रदेश भर में है… स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 के लिए धार तैयार था … क्या आम, क्या खास हर और से उठे हाथ मानों कह रहे थे अब की बार धार दिखाएंगा अपनी ” धार ” बीते कई दिनों से अथक प्रयास किए जा रहे थे.. जमीनी तैैैयारियों से लेकर शहर की सुंदरता और साज- सज्जा को लेकर पूरे शहर और अमले ने ताकत झोंक दी थी…. शहर में स्वच्छता को लेकर अभियान मानों एक मिशन के रूप में तब्दील हो गया था यह एक – दो दिन नही वरन् कई महीनों से चल रही तैयारियों की बानगी है…. यह उपलब्धि धार शहर ही नही अपितु धार जिले को गौरवान्वित कर रही है. इस सफलता के पीछे की कहानी को टटोला जाए तो इसमें कोई संदेह नही कि इस सफलता के पीछे धार के स्वच्छता प्रहरियों, नगर के नागरिकों, जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों- कर्मचारियों का खासा योगदान रहा है . नागरिकों की जागरूकता, शहर को स्वच्छ बनाने का संकल्प और सहयोग से कामयाबी दिलाने में अग्रणी भूमिका निभाई है. स्वच्छता अभियान से जुड़े प्रहरियों- कर्मचारियों की भूमिका की चहुंओर सराहना हो रही है. धार की सफलता इन मायनों में भी उल्लेखनीय है कि पिछले स्वच्छता सर्वेक्षण में धार काफी पिछड़ गया था. जुनून- जज्बा और सफलता की चाह ने धार की झोली में यह मुकाम दिलाया है. बड़े हौसलों से कचरा मुक्त शहर की सूची में धार ने थ्री स्टार की रेटिंग प्राप्त कर प्रदेश का मान बढ़ाया है. धार गद् गद् है यह उपलब्धि हासिल कर. धार को मिले इस तमगें से शहरवासी इस सफलता को आगे बढ़ाने के लिए संकल्पित है. नगर पालिका धार द्वारा घर- घर कचरा वाहन के माध्यम से एकत्रित कर ट्रेंचिंग ग्राउंड पर कचरे का निपटान कर खाद बनाने में उपयोग किया. शहर के शौचालयों को दुरस्त कर शौचालयों पर पैंटिंग के माध्यम से शहर की जनता में स्वच्छता के प्रति जागरूकता का वातावरण बनाया. नगरपालिका के कर्मचारियों और स्वच्छता अभियान से जुड़े सभी प्रहरियों ने वार्ड- वार्ड सुबह- शाम स्वच्छता का अलख जगाया. शहरवासियों ने भी कदम दर कदम स्वच्छता के प्रयासों में जोर लगाया तब जाकर धार इतिहास रचने में सफल हो पाया है. बाक्स :- स्वच्छता के प्रहरियों और धार की जनता के सहयोग से मिली कामयाबी…. अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि खुद नपाध्यक्ष नेहा बोडाने, नपा उपाध्यक्ष , पार्षदों और नगरपालिका के सीएमओ निशिकांत शुक्ला , स्वच्छता ब्रांड एम्बेसेडर राजेश शर्मा और टीम ने मोर्चा संंभाला था .. चौबीसों घंटे एक ही मिशन धार को अव्वल लाना है…. निश्चित तौर पर यह एक नई सुबह हैै शहर की सेहत के प्रयासों के लिए…. धार शहर को स्वछता में सिरमौर बनाने के लिए नगर पालिका ने जहां कमर कसी थी तो प्रण और प्राण से जूट गये थे स्वच्छता के प्रहरी . बस एक ही मकसद हमारा ” धार ” बने सपनों सा सुंदर… आशा की किरण सुबह की भोर के साथ मानों कह रही थी ” संकल्प और मेहनत के दम पर जीतेंगे बाजी हम , चहुंओर उठे शहर से हाथ , सबने ठाना था धार को स्वच्छता का ताज दिलाना है ” स्वच्छता अभियान के लिए प्रतियोगिता और प्रतिस्पर्धा का वातावरण भी तैयार किया गया था ” स्वच्छ सर्वेक्षण 2023 हेतु स्वच्छ वार्ड रैंकिंग आयोजित की गई प्रत्येक वार्ड क्षेत्र, होटलों,स्कूलों, अस्पतालों, (स्वास्थ्य सुविधा), आरडब्ल्यूए, मोहल्ला, सरकारी कार्यालय और मार्केट में स्वच्छ रैंकिंग प्रतियोगिता आयोजित की गई थी . बाक्स- सफलता की कहानी , प्रयासों की बानगी – 2018 से लगातार धार ओडीएफ++ – 2019 से लगातार थ्री स्टार रैंकिंग – वाल पैंटिंग बनाने से लेकर दलेल पद्धति से सफाई – 23 कचरा संग्रहण वाहन – 30 वार्ड में सुनियोजित सफाई प्रबंधन – 300 स्वच्छता प्रहरी ( सफाई मित्र ) जुटे थे अभियान में – प्रतिदिन शहर से करीब 35 से 40 टन कचरे का निपटान – स्वच्छ रैंकिंग प्रतियोगिता आयोजित की गई – सफाई की पाठशाला में सफाई मित्रों को प्रशिक्षित किया गया.

Related Articles

Back to top button