ताजा ख़बरें

झोलाछाप डॉक्टर की पत्नी को इंजेक्सन लगाना पड़ा भारी

टीकमगढ़

झोलाछाप डॉक्टर धर्मेंद्र श्रीवास की पत्नी बंदना के द्वारा इंजेक्शन की दवा अंदर और मरीज की दम बाहर

टीकमगढ़ जिले के बल्देवगढ़ थाना अंतर्गत ग्राम पंचायत भेलसी मैं एक अपने आप को डॉक्टर लिखने वाला झोलाछाप डॉक्टर धर्मेंद्र श्रीवास की पत्नी वंदना श्रीवास के द्वारा जसोदा रैकवार शिकार हो गई ।
ग्राम भेलसी का यह चौथा मामला सामने आया है जहां पर एक झोला छाप डॉक्टर ने कशा गांव की रहने वाली जसोदा वाई रैकवार खुजली खांसी वगैरा दिखवाने झोलाछाप डॉक्टर की क्लीनिक ग्राम भेलसी गई जहां पर झोलाछाप डॉक्टर धर्मेंद्र श्रीवास क्लीनिक में ना होने के कारण झोला छाप डॉक्टर धर्मेंद्र श्रीवास की पत्नी बंदना ने जैसे ही इंजेक्शन लगाया मरीज के दवा अंदर दम बाहर जसोदा रैकवार उम्र 50 वर्ष चक्कर खाते ही जमीन पर गिर गई और उसकी मौत घटनास्थल पर ही हो गई और मरीज की बहू साथ थी के द्वारा बताया गया की हमारी सास कहती रहीं की साब बहुत लग रहा है सुई निकालो मत लगाओ इंजेक्शन लेकिन वह कहती रही नहीं वह तो लगता ही है जैसे ही दवा अंदर गई और दम बाहर आ गई काश खरगापुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मैं यदि डॉक्टर होता तो यह महिला को बचाया जा सकता था लेकिन खरगापुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र इस मामले में बहुत ही अभागा है। पांच पांच डॉक्टर की पोस्टिंग होने के बावजूद भी एक भी डॉक्टर मौजूद नहीं है। पुलिस को सूचना लगी पुलिस मौके पर पहुंची जांच पड़ताल शुरू कर दी पुलिस द्वारा शव को कब्जे में लिया और पीएम के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बल्देवगढ़ भेजा गया।
पोस्टमार्टम होने के बाद एवं पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद तक कार्रवाई जारी रहेगी

ग्लोबल इंडिया टीवी न्यूज़ से जिला ब्यूरो हरिशंकर जड़िया की खास रिपोर्ट

Related Articles

Back to top button