ताजा ख़बरेंदेश

कुक्षी को जिला बनाने के लिए “जनहित का सफ़र” 25 नवंबर से प्रारंभ

राज्यपाल, मुख्यमंत्री सहित संभावित कुक्षी जिला क्षेत्र के जिम्मेदार अधिकारी व जनप्रतिनिधियों को पत्र प्रेषित किया

कुक्षी। प्रदेश के बड़े जिलों में शुमार धार की बड़ी तहसील कुक्षी को बरसों से जिला बनाने की मांग की जा रही है। समय-समय पर शासन-प्रशासन को हम “कुक्षी जिला बनाओ आंदोलन” के लोग लगातार इस महत्वपूर्ण जनहितैषी मांग पर ध्यानाकर्षण करवाते आ रहे है।

हम कुक्षी को जिला बनाने का मांग प्रस्ताव पत्र शासन-प्रशासन को कई बार प्रेषित कर चुके व प्रत्यक्ष रूप से भी दे चुके है।
उपरोक्त विषयक पत्र म.प्र. के माननीय राज्यपाल महोदय को जनहित मंच “जनादेश सरकार” व “कुक्षी जिला बनाओ आंदोलन” प्रमुख सोमेश्वर पाटीदार ने प्रेषित किया है।
पाटीदार ने बताया कि, हमने विभिन्न गतिविधियों में हस्ताक्षर अभियान, राजनीतिक, सामाजिक व अन्य संगठनों के समर्थन पत्र अभियान, 112 दिवस तक मौन उपवास, खून से मुख्यमंत्री को पत्र, आरएसएस ने कुक्षी को कार्यो की दृष्टि से जिला माना है इसलिए कुक्षी से आरएसएस मुख्यालय नागपुर (महाराष्ट्र) तक सायकल यात्रा की, शिव आराधना के पावन पर्व श्रावण माह में संभावित कुक्षी जिला क्षेत्र के 12 शिवलिंगो का अभिषेक किया, एवं दिनांक: 27 फरवरी 2022 से प्रति रविवार रात्रि 8 से 10 बजे तक साप्ताहिक सांकेतिक धरना प्रदर्शन जारी है।

हम जनहित के विषयों पर सतत सक्रिय है, कुक्षी जिला बनाने की मांग पर दिनांक: 18 मार्च 2021 को धार आगमन पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को कुक्षी जिला बनाने का मांग प्रस्ताव पत्र सौपते ही उन्होंने जवाब दिया था कि, कुक्षी विधानसभा में जीत का अंतर तो देखो… इस तरह की सोच क्या किसी मुख्यमंत्री के लिए संवैधानिक व शोभनीय है ?
नगर व क्षेत्र की आस्था के केंद्र पंचमुखी माँ गायत्री मंदिर सरोवर कुक्षी में आसपास की कॉलोनियों का मलमूत्र गंदा पानी आ रहा है जिसे लेकर लंबे जनांदोलन के बाद पर्यटन विभाग से विकास कार्य हो रहे परंतु नगर परिषद की लापरवाही से गंदा पानी अब भी आ रहा है। इसके विरोध स्वरूप मैने मलमूत्र गंदे पानी भरे सरोवर में डुबकी लगाकर गंदा पानी पिया था। जिसकी सूचना शासन-प्रशासन को लगभग डेढ़ माह पूर्व दी गई थी पर एक भी व्यक्ति इनका मौके पर नही आया और न ही अब तक कार्य प्रारंभ किया है।

आंदोलन प्रमुख पाटीदार ने कहा कि, इस प्रकार भेदभावपूर्ण रवैया रखने वाले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पद पर रहते तक दिनांक: 04 अक्टूबर 2022 महानवमी के दिन से संकल्प के साथ दुखी मन से मै जूते-चप्पल का त्याग कर नंगे पैर चलता हूँ। सरकार भले ही भाजपा की रहे, पर ऐसे दोहरी नीति वाले गैरजिम्मेदार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अब नही होना चाहिए।
उन्होंने कहा कि, आंदोलन को गति देते हुए कुक्षी जिला बनाने के लिए दिनांक: 25 नवंबर 2022 शुक्रवार से पंचमुखी माँ गायत्री व माँ नर्मदा की पूजा अर्चना कर “जनहित का सफ़र” नामक यात्रा प्रारंभ करेंगे।
“जनहित का सफ़र” गांव-गांव, फलियां-फलियां पहुँचेगा और इसके माध्यम से कुक्षी जिला बनने से क्षेत्र का विकास व जनता को लाभ पर विस्तृत में संवाद कर जनजागृति करेंगे।
जिस तरह राजनीतिक दल सत्ता पाने के लिए वोट मांगने हेतु जनसंपर्क करते है और “कुक्षी जिला बनाओ आंदोलन” क्षेत्र के विकास को दृष्टिगत रख, जनहित में जनसंपर्क करेगा।
सप्ताह से सप्ताह का “जनहित का सफ़र” की विस्तृत जानकारी व रूट हम सार्वजनिक करते रहेंगे।
आगामी समय में क्रमबद्ध आंदोलन का जिम्मेदार शासन-प्रशासन होगा।
माननीय राज्यपाल से उपरोक्त विषय पर अतिशीघ्र कार्यवाही करते हुए कुक्षी को जिला बनाकर क्षेत्र को बड़ी सौगात देने का अनुरोध किया है।

आवश्यक कार्यवाही, सहयोग हेतु इन्हें भी प्रतिलिपि प्रेषित की है

मुख्यमंत्री महोदय, म.प्र. शासन, नेता प्रतिपक्ष विधानसभा म.प्र. , गृह मंत्री महोदय, म.प्र. शासन, धार जिला प्रभारी मंत्री महोदय, म.प्र. शासन, प्रदेशाध्यक्ष महोदय, भाजपा म.प्र., प्रदेशाध्यक्ष महोदय, कांग्रेस म.प्र., विधायक महोदय, कूक्षी, विधायक महोदय, गंधवानी, विधायक महोदय, मनावर, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक महोदय, संभाग इंदौर, कलेक्टर महोदय धार, पुलिस अधीक्षक महोदय धार, एसडीएम महोदय, मनावर/कुक्षी, एसडीओपी महोदय, मनावर/कुक्षी, थाना प्रभारी, चौकी प्रभारी, कुक्षी/निसरपुर/डही/बाग़/टांडा/डेहरी/गंधवानी/मनावर/सिंघाना/उमरबन/बाकानेर/जिराबाद/कातरखेड़ा, अध्यक्ष महोदय, जनपद पंचायत कुक्षी/निसरपुर/डही/बाग़/मनावर/उमरबन/गंधवानी, मुख्य कार्यपालन अधिकारी महोदय,जनपद पंचायत कुक्षी/निसरपुर/डही/बाग़/मनावर/उमरबन/गंधवानी, सीएमओ महोदय, नगर पालिका मनावर, नगर परिषद कुक्षी/डही

Related Articles

Back to top button